राज्यसभा में 9 और सांसदों के साथ एनडीए की ताकत बढ़ी; आंकड़ा 104, पर बहुमत से 17 कम

राज्यसभा की उत्तराखंड में एक सीट समेत 11 सीटों पर सोमवार को हुए चुनावों के बाद उच्च सदन में एनडीए की ताकत बढ़ गई है। सोमवार को उत्तर प्रदेश की 10 सीटाें में से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी समेत भाजपा के नौ प्रत्याशी निर्विरोध चुन लिए गए। भाजपा ने इस चुनाव में 6 सीटाें का इजाफा किया।

इससे उच्च सदन में एनडीए सांसदों की संख्या 100 पार हो गई। चुने गए सांसदों में 6 पहली बार, जबकि तीन दोबारा चुने गए। इस चुनाव में सबसे ज्यादा 3 सीट सपा ने गंवाई हैं। जबकि बसपा को एक सीट का नुकसान हुआ। इस चुनाव में सपा के रामगोपाल यादव, जबकि बसपा के रामजी गौतम भी उच्च सदन के लिए चुन लिए गए। वहीं लंबे समय तक इस सदन में वर्चस्व रखने वाली कांग्रेस के अब 38 सांसद ही बचे हैं। यह अब तक की सबसे कम संख्या है।

242 सदस्यीय राज्यसभा में अब ये स्थिति
242 सदस्यीय राज्यसभा में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के 104 सदस्य हो गए हैं। इसमें अकेले भाजपा के 92 सांसद शामिल हैं। बहुमत के लिए जरूरी 121 सांसदों से भाजपा अब 17 सांसद दूर है। उसे 4 नामित सदस्यों का समर्थन भी मिल सकता है।

वैसे सत्ताधारी गठबंधन कई अहम विधेयकों पर एआईएडीएमके (9सांसद), बीजू जनता दल (9सांसद), टीआरएस(7सांसद) और वायआरएस कांग्रेस (6सांसद) का दोस्ताना सहयोग मिलता रहा है। सबसे ज्यादा 31 सांसदों वाले उत्तर प्रदेश से भाजपा के पास अब 22 राज्यसभा सदस्य हो गए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34OJThi
via Dainik Bhaskar

Post a comment

0 Comments