दिल्ली कोरोना की दूसरी लहर के पीक से गुजर चुकी, अब हालात काबू में हैं, अस्पताल में कोरोना के आरक्षित बेड भी अब खाली हो रहे

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि राजधानी में कोरोना की दूसरी लहर का पीक खत्म हो चुका है। धीरे धीरे स्थिति में सुधार हो रहा है। कोरोना संक्रमित तेजी से ठीक हो रहे है और अस्पताल में कोरोना के आरक्षित बेड भी अब खाली हो रहे है। केजरीवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जांच में वृद्धि की गई। उन्होंने कहा कि 17 सितंबर को दिल्ली में कोविड-19 का दूसरा चरण पीक पर पहुंच गया था, जब शहर भर में करीब 4500 मामले सामने आए थे।

अब स्थिति काफी हद तक नियंत्रण में है। केजरीवाल ने कहा कि अस्पताल में 10 हजार बेड खाली है। एक समय पर 7200 बेड पर मरीज भर्ती थे। बता दें दिल्ली में कोरोना के संक्रमण बढ़ने पर जांच की संख्या 20 हजार प्रतिदिन से बढ़ाकर करीब 50 से 60 हजार कर दी गई। दिल्ली सरकार ने टेस्ट, ट्रेस और आईसोलेट की रणनीति पर कोरोना संक्रमण को रोकने की रणनीति बनाई है।

दिल्ली में 24 घंटे में 2676 नए मामले, 39 की मौत

दिल्ली में कोरोना के नए मामले में गिरावट आ रही है। मंगलवार को दिल्ली सरकार की तरफ से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में 2676 नए मामले सामने आए और 39 मरीजों की कोरोना के कारण मौत हुई है। पिछले 10 दिन के आकड़ों के अनुसार दिल्ली में मृत्युदर 1.42 प्रतिशत है। वहीं, 2997 मरीज ठीक हुए है। रिपोर्ट के अनुसार अब तक 2,95,236 लोग कोरोना संक्रमित हुए है।

इनमें से 2,66,935 मरीज ठीक हो चुके है। अब तक कोरोना के कारण 5581 लोगों की मौत हुई है। अभी दिल्ली में 22,720 एक्टिव केस है। इनमें से 13,178 होम आइसोलेशन में है। दिल्ली में एक दिन में 53,591 लोगों की कोरोना सैंपल की जांच की गई। इनमें 9103 लोगों की आरटीपीसीआर और 44,488 लोगों की रैपिड एंटीजन टेस्ट से कोरोना सैंपल की जांच की गई। अब तक दिल्ली में 33,70,968 लोगों के कोरोना सैंपल की जांच की जा चुकी है।

डॉ. रेड्डीज लैब देश में दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल के लिए दोबारा आवेदन करें

केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज से भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल करने के लिए दोबारा आवेदन देने को कहा है। हैदराबाद स्थित दवा कंपनी ने क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति के लिए पिछले हफ्ते के आखिर में भारतीय दवा महानियंत्रक (डीसीजीआइ) के यहां आवेदन किया था।

कोरोना महामारी पर सीडीएससीओ की विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) की सोमवार को हुई बैठक में डॉ. रेड्डीज के आवेदन पर विस्तार से चर्चा हुई। संशोधित आवेदन में उसे यह बताना है कि दूसरे और तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल संयुक्त रूप किया जाना है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Delhi has passed through the second wave of Corona, now the situation is under control, the corona reserved beds in the hospital are also getting empty


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2I4DYfi
via Dainik Bhaskar

Post a comment

0 Comments