मेरे सपनों का भारत प्रतियोगिता में सुष्मिता पहले स्थान पर रही

विश्व छात्र दिवस के अवसर पर केआईआईटी कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम याद किया इस दौरान विशेष सभा का आयोजन किया। कार्यक्रम में वीडियो के माध्यम से डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का शिक्षा के क्षेत्र में योगदान को भी दर्शाया। 15 अक्टूबर को डॉ. कलाम के 89वें जन्म-दिवस के अवसर पर विश्व छात्र दिवस 2020 का थीम ‘लर्निंग फॉर पीपल, प्लैनेट, प्रॉस्पेरिटी एण्ड पीस’ घोषित किया गया है।

कार्यक्रम पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया, जिसका विषय “मेरे सपनों का भारत” था। प्रतियोगिता में बीएड की छात्रा सुष्मिता, रिया एंड सरोज और मयनकीता ने पहला, दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया। केआईआईटी कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन के निदेशक, प्रो. एम सेन गुप्ता ने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के जीवन के बारे में बताते हुए कहा “मिसाइल मैन के नाम पहचाने जाने वाले कलाम साहब न सिर्फ एक महान वैज्ञानिक, प्रेरणादायक नेता थे, बल्कि अद्भुत इंसान भी थे।

उन्होंने हमेशा एक शिक्षक की तरह जीवन को बेहतर बनाने के लिए सभी को प्रेरित किया है। वर्ष 2010 में संयुक्त राष्ट्र संगठन ने एपीजे अब्दुल कलाम के जन्मदिवस को विश्व छात्र दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sushmita stood first in my dream India competition


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37cidV9
via Dainik Bhaskar

Post a comment

0 Comments