डस्ट रोकने के निर्देशों का सख्ती से होगा पालन,13 हॉट स्पॉट की माइक्रो मॉनिटरिंग कर बनेगी विस्तृत रिपोर्ट

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने सोमवार को 13 हॉट स्पॉट को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में एमसीडी के 9 डिप्टी कमिश्नर को निर्देश दिया गया कि वे इन हॉट-स्पॉट का लगातार निरीक्षण करें। मंत्री ने हॉट स्पॉट की माइक्रो मॉनिटरिंग करके प्रदूषण से संबंधित सभी पहलुओं पर विस्तृत रिपोर्ट 14 अक्टूबर तक देने के निर्देश दिए।

इस रिपोर्ट के आधार पर एक्शन प्लान बनाकर सभी विभागों के साथ समन्वय करके कार्य किया जाएगा। इस मीटिंग में सभी संबंधित विभागों को हॉटस्पॉटों के निरीक्षण के लिए और अधिक टीमों की नियुक्ति का आदेश दिया गया है। राय ने बताया कि सरकार द्वारा ग्रीन एप तैयार किया जा रहा है। इसको लांच करने से पहले सेंट्रल वॉर रूम और सभी संबंधित विभागों के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए ट्रेनिंग का कार्य किया जा रहा है।

यह है 13 हॉटस्पॉट | मुंडका, अशोक विहार, बवाना, द्वाराका, नरेला, आनंद विहार, रोहिणी, विवेक विहार, वजीरपुर, ओखला, जहांगीरपुरी, आरके पुरम,पंजाबी बाग।

निर्देशों का सभी को करना होगा पालन
राय ने कहा कि केन्द्र, दिल्ली सरकार समेत सभी एजेंसियों को निर्माण स्थल पर डस्ट प्रदूषण रोकने के पांच निर्देशों का पालन करना होगा। इसमें निर्माण स्थलों को टीन शेड, नेट, हरी चादरों से ढंकना, पानी का नियमित छिड़काव करना और निर्माण सामग्री ले जाने वाले ट्रकों को ढंकना आदि शामिल है।

डी-कंपोजर घोल छिड़काव आज से
राय ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मंगलवार को नरेला क्षेत्र के हिरंकी गांव से डी-कंपोजर से बने घोल के छिड़काव का शुभारंभ करेंगे। पूसा एग्रीकल्चर इंस्टीट्यूट के सहयोग से बायो डी-कंपोजर घोल तैयार किया गया है। जिसे दोगुना करने का कार्य किया जा रहा है। इस घोल का पराली के डंठल पर छिड़काव करने से वह खेत में ही गल कर खाद बन जाता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Dust prevention instructions will be strictly followed; micro-monitoring of 13 hot spots will be done


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2GUwnQf
via Dainik Bhaskar

Post a comment

0 Comments