देश में अब 97,411 मौतें, दो-तीन दिन में हो सकती हैं एक लाख के पार; उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को भी कोरोना

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 62 लाख पार हो गया है। मंगलवार को 82,473 नए मरीज मिले। इन्हें मिलाकर संक्रमितों की संख्या 62,13,008 हो गई। राहत की बात ये है कि एक बार फिर नए मरीजों से ज्यादा लोग ठीक हुए। 24 घंटे में 85,481 और रिकवरी के साथ ठीक होने वालों का आंकड़ा 51,74,418 हो गया। इस आंकड़े तक पहुंचने वाला भारत दुनिया का इकलौता देश है।

अमेरिका समेत किसी भी और देश में ठीक होने वालों का आंकड़ा 50 लाख से नीचे है। इधर, चिंताजनक खबर ये है कि 24 घंटे में देश में 1,167 मौतें भी हुई। इन्हें मिलाकर मृतक संख्या 97,411 और मृत्यु दर 1.56% हो गई। अगर मौतों की रफ्तार यही रहती है, तो अगले दो या तीन दिन में देश में मौतों का आंकड़ा 1 लाख पार हो जाएगा। इस बीच, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को भी कोरोना हो गया है।

उनके रूटीन टेस्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। उन्हें होम आइसोलेट किया गया है। हालांकि, उनकी पत्नी उषा नायडू की की रिपोर्ट निगेटिव आई है। नायडू से पहले गृह मंत्री अमित शाह को भी कोरोना हो चुका है।

नई दिल्ली | दिल्ली में कोरोना के नए मामले में गिरावट और मौत के मामले में उछाल आ रहा है। मंगलवार को दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में 3227 नए मामले आए और 48 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। वहीं, 2778 मरीज ठीक हुए है। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अब तक 2,76,325 लोग कोरोना संक्रमित हुए है।

इनमें से 2 लाख 43 हजार 481 ठीक हो चुके है। अब तक दिल्ली में 5320 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है। अभी दिल्ली मे 27,524 एक्टिव केस है। जिसमें से 16,049 होम आइसोलेशन में है। दिल्ली में एक दिन में 59,102 लोगों की कोरोना सैंपल की जांच की गई। इनमें 9576 की आरटीपीसीआर और 49,526 की रैपिड एंटीजन टेस्ट से जांच की गई।

सबसे सुखद शून्य! यही ट्रेंड रहा तो सक्रिय मरीज 102 दिन में आधे होंगे

कोरोना काल में अब तक हम पढ़ते-सुनते आए हैं कि मरीज कितने दिन में दोगुने हो रहे हैं। लेकिन, अब पांच महीने बाद लगातार 9 दिन सक्रिय मरीज बढ़ने की दर शून्य से नीचे है, इसलिए गणना भी बदल गई है। 20 से 28 सितंबर तक सक्रिय मरीज बढ़ने की औसत दर -0.21% रही। यही ट्रेंड रहता है तो अगले 102 दिन में सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर आधी रह जाएगी। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, सक्रिय मरीज बढ़ने की दर लगातार 14 दिन शून्य से नीचे रहती है तो उसे कोरोना का पीक मान लिया जाता है। इसी आधार पर अमेरिका, ब्राजील और यूरोपीय देश अपने यहां पीक घोषित कर चुके हैं।

सरकारी आंकड़ेे कितने सच?
मध्यप्रदेश में एंटीजन टेस्ट में मिले बिना लक्षण वाले मरीजों को रिपोर्ट नहीं करने का आदेश जारी हुआ है। इसी तरह गुजरात, बंगाल, तेलंगाना में आंकड़ों पर सवाल उठ चुके हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
There are now 97,411 deaths in the country, in two-three days it may cross one lakh; Corona also to Vice President Venkaiah Naidu


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jgSmP4
via Dainik Bhaskar

Post a comment

0 Comments